राजकीय सम्मान के साथ पंचतत्व में विलीन हुए युद्धवीर

46
Share

उमड़ा जनसैलाब.भतीजे शौर्य प्रताप सिंह ने
दी मुखाग्नि


रायपुर/ जशपुर ,22 सितम्बर 2021 (ए)।। पूर्व विधायक व बीजेपी नेता युध्दवीर सिंह जूदेव का पार्थिव शरीर पंचतत्व में विलीन हो गया। राजकीय सम्मान के साथ बांकी नदी के तट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। उनके भतीजे शौर्य प्रताप सिंह जूदेव ने उन्हें मुखाग्नि दी।
अपने युवा नेता को अंतिम ​बिदाई देने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। भाजपा नेताओं सहित उनके समर्थकों, रिश्तेदारों ने उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। इस युवा राजनेता की मौत पर हल्की बारिश की फुहार से मानो बादल भी रो पड़ा। पत्नी संयोगिता को सांसद गोमती साय और राजमाता संभालते दिखीं।
पूर्व विधायक व बीजेपी नेता स्व.युध्दवीर सिंह जूदेव की अंतिम यात्रा बुधवार को जशपुर के विजय विहार पैलेस से निकाली गई, जहां उनके परिवार व भाई प्रबल प्रताप सिंह जूदेव समेत नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कांधा दिया। पत्नी संयोगिता सिंह जूदेव ने अपने पति को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि देकर अंतिम विदाई दी।
अपने लाड़ले दिवंगत नेता की अंतिम यात्रा में केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह, छत्तीसगढ़ शासन के मंत्री अमरजीत भगत मंत्री, पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर, बृजमोहन अग्रवाल, रामविचार नेताम, विधायक शिवरतन शर्मा, प्रेमप्रकाश पांडेय, सांसद गोमती साय, अरुण साव,जी आर अजगले,नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, विधायक नारायण चंदेल, अकलतरा विधायक सौरभ सिंह, बेलतरा विधायक रजनीश कुमार, प्रदेश मंत्री ओपी चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, राजा रणविजय सिंह जूदेव पूर्व मंत्री रामसेवक पैंकरा,गणेश राम भगत ,ननकीराम कंवर समेत अन्य नेता,मंत्री शामिल हुए। जशपुर के हर घर के सदस्यों ने अपने घरों से बाहर निकलकर नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी। जशपुर समेत प्रदेश के दिग्गज नेताओं के साथ हजारों समर्थकों व जनसमूह ने जय जूदेव के नारों से अपने चहेते युद्धवीर को विदा किया। सड़क के दोनों ओर करीब 6 किमी तक हुजूम दिखाई दे रहा था। शहर की सड़कें पूरी तरह भरी हुई थी कोई आंसू बहा रहा था तो कोई पुष्प अर्पित कर रहा था। लोग जय जूदेव के नारे लगाते नहीं थक रहे थे।
गौरतलब है कि युद्धवीर सिंह जूदेव का 20 सितंबर को बेंगलुरु के अस्पताल में निधन हुआ था। वे लीवर के गंभीर संक्रमण से जूझ रहे थे। मंगलवार को विशेष विमान से उनका पार्थिव देह जशपुर पहुंचा था। बुधवार को उनका पुरे राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि की गई।


Share