पंडो जनजाति के लोगों की मौत का सिलसिला जारी,दो और की गई जान

46
Share

अम्बिकापुर बलरामपुर 22 सितम्बर 2021 (घटती-घटना)। बलरामपुर जिला क्षेत्र अंतर्गत निवासरत पंडो जनजाति में मौत के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। इलाज के दौरान मेडिकल कॉलेज अस्पताल अंबिकापुर में एक महिला व पुरुष की मौत हो गई। यह दोनों काफी दिन से बीमार चल रहे थे। इन्हें राज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वही 1 माह पूर्व मृतिका के ससुर की भी मौत खून की कमी और बुखार से हो गई थी ।
मनकुरी पण्डो पति फजिहत पण्डो उम्र 41 वर्ष ग्रामपंचायत बिमलापुर ब्लॉक रामचंद्रपुर जिला बलरामपुर-रामानुजगंज की निवासी थी। वह काफी दिन से बीमार चल रही थी। इसके शरीर में मात्र 8 ग्राम खून बचे थे। प्रदेश अध्यक्ष उदय पंडो के पहल पर 18 सितंबर को उसे इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां इलाज के दौरान मंगलवार की देर रात उसकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि वह एक सप्ताह से बुखार से पीडç¸त थीं। रूपए के अभाव में समय से इलाज नहीं करा सकी और घर पर अंधविश्वास में पड़कर झाड़ फूंक करा रही थी। वहीं केवरा भैयाथान सूरजपुर निवासी 50 वर्षीय धिरन पण्डो पिता हिरा लाल पण्डो की भी मौत इलाज के दौरान मेडिकल कॉलेज अस्पताल में हो गई। बताया जा रहा है कि वह तीन दिन पूर्व घर पर उल्टी दस्त होने पर सबसे पहले भैयाथान सरकारी अस्पताल लाया गया था। वहां से सूरजपुर में इलाज चल रहा था। दो-दिन पहले मेडिकल कॉलेज अम्बिकापुर में भर्ती कराया गया था। यहां इलाज के दौरान बुधवार की सुबह मौत हो गई।
3 वर्षीय मासूम वह दो महिलाओं को अस्पताल में कराया गया भर्ती
मानकुंवर पण्डो पति जुगेश्वर पण्डो उम्र लगभग 50 वर्ष ग्राम ओरंगा रामचंद्रपुर ब्लॉक रकसाही घुटरा निवासी को रविवार को जिला अस्पताल बलरामपुर में भर्ती कराया गया है। ग़रीबी के कारण इलाज नहीं करा पा रही थी। वह 5 वर्षों से बिस्तर पर ही थी। वह घर में ही जड़ी बूटी से इलाज करा रही थी। जानकारी होने पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा उसे जांच के लिए जिला अस्पताल बलरामपुर में भर्ती कराया गया है। वहीं हलकनिया पण्डो 45 वर्ष ग्रामपंचायत पचावल निवासी को भी इलाज के लिए बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वही रामचंद्रपुर ब्लॉक के सुंदरपुर निवासी 3 वर्षीय छोटू पंडो पिता रमेश पंडो को भी राज के लिए भर्ती कराया गया। 3 वर्ष उम्र होने के बाद भी ये बच्चा नहीं खड़ा हो पाता है स्वस्थ्य नहीं दिखता है इसके पिता रमेश पण्डो दोनों पैर जलने के कारण भर्ती है और इलाज चल रहा है।


Share