बैकुण्ठपुर@कुछ महीने पहले जिस सड़क का निरीक्षण करने पहुंचे थे कलेक्टर वहां बनने लगी पक्की सड़क

109
Share

दुर्गम कहे जाने वाले ग्राम आनंदपुर तक सरलता से पहुंचेंगी जनसुविधाएं

बैकुण्ठपुर 14 जनवरी 2022 (घटती-घटना)। सोनहत वनांचल क्षेत्र के आनंदपुर गांव तक जाना अब तक दुर्गम था, ऊंची पहाçड़यों और बारहमासी नालों के पार बसे इस गांव तक अब बिना रुके जनसुविधाएं पहुचेंगी। मुख्यालय से लगभग 68 किलोमीटर दूर ग्राम नटवाही से जिले के अंतिम छोर पर स्थित ग्राम आनंदपुर तक 19 किमी की दूरी को बारहमासी आवागमन सुगम करने के लिए 1 करोड़ 70 लाख रुपये से अधिक का सड़क निर्माण कार्य प्रगति पर है। जल्द ही कोरिया जिला का यह सुदूर दुर्गम वनांचल क्षेत्र मुख्यालय बैकुंठपुर से सीधा जुड़ जाएगा। उल्लेखनीय है कि इस दुर्गम पहाड़ी रास्ते पर कलेक्टर श्री श्याम धावड़े ने लगभग पांच माह पूर्व पहाड़ी रास्तों पर खुद बाइक चलाकर क्षेत्र का जायजा लिया था।
प्रशासनिक व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने और यंहा निवासरत आम जन तक शासन की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी और लाभ पहुंचाने के उद्देश्य के साथ कलेक्टर एवं सीईओ जिला पंचायत ने विकासखण्ड सोनहत के मुख्यालय से भ्रमण शुरू कर मध्यप्रदेश की सीमा से लगे अंतिम छोर के ग्राम आनंदपुरए गोयनी तक का दौरा किया था। सड़कों के रास्ते पर चलकर ही विकास की धारा आगे बढ़ती है इसी तर्ज पर कलेक्टर श्री धावड़े द्वारा इस क्षेत्र के चंहुमुखी विकास के लिए ग्राम पंचायत नटवाही के ग्राम सलगवांखुर्द में 39 लाख 49 हजार रूपये के निर्माण कार्य की प्रशासकीय स्वीकृति दी गई है। जिसमें जिला खनिज न्यास से अभिसरण अंतर्गत 16 लाख 08 हजार रूपये एवं मनरेगा योजना से 23 लाख 41 हजार रूपये की राशि शामिल है। इस राशि से ग्राम सलगवांखुर्द में गोपद नदी पुल में नटवाही से सलगवांखुर्द पहुंच मार्ग पर रिटर्निंग वाल निर्माणए चुनखोह नाला नटवाही से धनपुर रोड में आरसीसी पुलिया निर्माण एवं भलुवाही नाला नटवाही से धनपुर रोड में पूर्व निर्मित आरसीसी पुलिया का छत व विंगवाल निर्माण कार्य किया जा रहा है। इन पुलिया निर्माण कार्यों के पूर्ण होने से ग्रामीणजनों को आवागमन हेतु परेशानियों का सामना नही करना पड़ेगा और विद्यार्थियों को पढ़ने जाने में होने वाली गम्भीर परेशानी दूर होगी। मरीजो को अस्पताल तक जाने में अब समस्या नही होगी और ग्रामीणों को अपने दैनिक कार्यों में परेशानी का सामना नही करना पड़ेगा।


आदिवासी बहुल क्षेत्र लोगों को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने का कलेक्टर श्याम धावड़े ने किया प्रयास


आदिवासी बहुल क्षेत्रों में नाममात्र की सुविधाओं के सहारे जीवनयापन करते लोगों को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए कलेक्टर श्री धावड़े द्वारा सड़क निर्माण के लिए राशि स्वीकृत की गई है। जिनमें ग्राम सलगवांखुर्द में चुनखोह नाला के पास रिटर्निंग वाल निर्माण कार्य एवं नटवाही से धनपुर मार्ग पर चुनखोह घाट भाग एक में 220 मीटर सीसी रोड निर्माण कार्य के लिए 25 लाख 40 हजार रूपये की स्वीकृति प्रदान की गई है। जिसमें जिला खनिज न्यास से अभिसरण अंतर्गत 11 लाख 18 हजार रूपये एवं मनरेगा योजना से 14 लाख 22 हजार रूपये की राशि शामिल है। इन कार्यों के लिए संबंधित ग्राम पंचायतों को क्रियान्वयन एजेंसी नियुक्त किया गया है।

चुनखोह घाट भाग दो में 400 मीटर वन मार्ग हेतु सीसी रोड का निर्माण

इसी प्रकार ग्राम सलगवांखुर्द में नटवाही से धनपुर मार्ग पर चुनखोह घाट भाग दो में 400 मीटर वन मार्ग हेतु सीसी रोड सह नाली निर्माण कार्यए ग्राम धनपुर में नटवाही से धनपुर मार्ग पर मछरी खरिका घाट में 200 मीटर वन मार्ग हेतु सीसी रोड सह नाली निर्माण कार्यए ग्राम आनंदपुर में धनपुर से आनंदपुर मार्ग पर कूदन घाट में 760 मीटर एवं तरकी तेंदू घाट में 130 मीटर तथा तरई जोरगा घाट में 320 मीटर वन मार्ग हेतु सीसी रोड सह नाली निर्माण कार्य हेतु 1 करोड़ 4 लाख 83 हजार रूपये की स्वीकृति प्रदान की गई है। जिसमें जिला खनिज न्यास से अभिसरण अंतर्गत 49 लाख 70 हजार रूपये एवं मनरेगा योजना से 55 लाख 13 हजार रूपये की राशि शामिल है। इस कार्य के लिए गुरू घासीदास राष्ट्रीय उद्यान बैकुण्ठपुर को क्रियान्वयन एजेंसी नियुक्त किया गया है।


Share