बैकुण्ठपुर@नगर पालिका अध्यक्ष बनने ही लगातार बड़े नेताओं से संपर्क

233
Share


धर्मपत्नी के नगरपालिका अध्यक्ष बनते ही शैलेश शिवहरे की दिखने लगी सक्रियता,पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह,कैबिनेट मंत्री राजेश मूणत,बृजमोहन अग्रवाल से की मुलाकात


भाजपा संगठन के लोगों से भी की मुलाकात,संगठन महामंत्री पवन साय से मिले,सरगुजा पहुंचकर पूर्व मंत्री व राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम से भी की मुलाकात

बैकुण्ठपुर 10 जनवरी 2022 (घटती-घटना)। धर्मपत्नी के नगरपालिका अध्यक्ष बनते ही शैलेश शिवहरे नजर आने लगे सक्रिय। रायपुर पहुंचकर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह,कैबिनेट मंत्री राजेश मूणत,बृजमोहन अग्रवाल से की मुलाकात। भाजपा संगठन के लोगों से भी की मुलाकात,संगठन महामंत्री पवन साय से मिले। सरगुजा पहुंचकर पूर्व मंत्री पूर्व राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम से भी की मुलाकात। सरगुजा दौरे पर भाजपा नेता अनुराग सिंहदेव से भी की सपत्नीक मुलाकात। सभी भाजपा नेताओं को नगरपालिका बैकुंठपुर के शपथ ग्रहण में आने का दे रहे न्यौता। पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष के साथ बैकुंठपुर नगरपालिका के दो पूर्व उपाध्यक्ष भी रहे हर जगह मौजूद। शैलेश शिवहरे की सक्रियता से अब विधानसभा में उनकी दावेदारी को लेकर अटकलें समाप्त। बैकुंठपुर विधानसभा में भाजपा की तरफ से शैलेश शिवहरे करेंगे दावेदारी दिखने लगा तय। पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शैलेश शिवहरे की धर्मपत्नी बनी हैं बैकुंठपुर नगरपालिका अध्यक्ष। भाजपा के अल्पमत में होने के बावजूद शैलेश शिवहरे ने धर्मपत्नी को अध्यक्ष बनाने में पाई है कामयाबी।
बैकुंठपुर नगरपालिका में भाजपा का अध्यक्ष पद पर कब्जा हुआ और भाजपा की नमिता शिवहरे बैकुंठपुर नगरपालिका की अध्यक्ष बनी जबकि भाजपा पार्षदों की संख्या के हिसाब से अल्पमत में थी और अल्पमत में होने के बावजूद पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शैलेश शिवहरे ने जो भाजपा के जिला उपाध्यक्ष भी हैं ने अपनी पत्नी नमिता शिवहरे को अपनी राजनीतिक सूझबूझ से अध्यक्ष बना ले जाने में कामयाबी प्राप्त की है और इस कामयाबी के मिलते ही पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष काफी सक्रिय हो गए हैं भाजपा पार्टी के बड़े नेताओं से लगातार संपर्क कर रहें हैं सरगुजा से लेकर रायपुर तक संगठन के लोगों को बड़े नेताओं को नगरपालिका अध्यक्ष पद के शपथ ग्रहण समारोह में आने का न्यौता दे रहें हैं जो लगातार नजर आ रहा है।

नगरपालिका अध्यक्ष पद पर धर्मपत्नी के निर्वाचित होते ही सक्रिय हुए शैलेश शिवहरे

शैलेश शिवहरे बैकुंठपुर भाजपा के उन नेताओं में शामिल हैं जो बड़े कद के जनाधार वाले नेता माने जाते हैं, शैलेश शिवहरे बैकुंठपुर नगरपालिका के अपने दम पर निर्दलीय चुनाव लड़कर अध्यक्ष बनने वाले नेताओं में से एक है जबकि उन्होंने भाजपा से ही बगावत कर चुनाव लड़ा था और सरकार भी उस वक्त भाजपा की थी। शैलेश शिवहरे जब दोबारा भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़ने मैदान में उतरे थे उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा था और वह पराजित हो गए थे। अपनी हार से भी उनका धैर्य धराशायी नहीं हुआ और वह नगरपालिका चुनावों में तीसरी बार अपनी किस्मत और अपना जनाधार तलाशने निकले जिसमें उन्होंने भाजपा से दो वार्डों में टिकट मांगा और पार्टी ने उन्हें प्रदान भी कर दिया। नगरपालिका अध्यक्ष पद चूंकि महिला अनारक्षित के लिए आरक्षित था इसलिए उन्होंने अपनी धर्मपत्नी को भी चुनाव में पार्षद बनाने का ठाना जिससे अप्रत्यक्ष प्रणाली से अध्यक्ष के चुनाव में उनकी धर्मपत्नी अध्यक्ष बन सकें और वह स्वयं पार्षद निर्वाचित होकर अपनी धर्मपत्नी को अध्यक्ष बनाने में सहायक साबित हो सकें। शैलेश शिवहरे स्वयं तो चुनाव हार गए और यह आरोप भी उनके समर्थक लगा रहें हैं कि उनकी हार भाजपा के ही बड़े नेताओं की तरफ से किये गए प्रयासों की वजह से हुई जिससे वह जीतकर विधानसभा के दावेदारों में न शामिल हो जाएं और धर्मपत्नी को अध्यक्ष बना ले जाकर वह अपनी टिकट विधानसभा की पक्की न कर ले जाएं। वैसे उनके समर्थकों का आरोप यदि सही है तो उस हिसाब से उनकी हार तो उनकी धर्मपत्नी के अध्यक्ष बनते ही भुला दी गई हार साबित हो गई और अब वह भाजपा के विधानसभा चुनावों के दावेदारों में ऊपरी क्रम पर आ गए और अब उन्हें एक मजबूत प्रत्यासी भाजपा की तरफ से बैकुंठपुर विधानसभा का देखा जाने लगा, वहीं अपनी धर्मपत्नी को अध्यक्ष निर्वाचित कराते ही शैलेश शिवहरे काफी सक्रिय हो गए हैं और खासकर भाजपा खेमे में जिले संभाग और राज्य तक उन्होंने सक्रियता बढ़ा दी है जो नजर भी आने लगा है।

शैलेश शिवहरे ने कांग्रेस को इसबार जीती हुई बाजी में भी मात दे डाली

शैलेश शिवहरे भाजपा के इकलौते नेता हैं जो वर्तमान में भाजपा के लिए विधानसभा में सबसे प्रबल उम्मीदवार के रूप में उभर रहें हैं,शैलेश शिवहरे और कांग्रेस का नाता साथ ही शैलेश शिवहरे की किस्मत और कांग्रेस को लेकर दो दो ऐसे उदाहरण अब सामने हैं जिससे यह साबित होता है कि भविष्य में भाजपा के लिए विधानसभा में कांग्रेस को मात देने का काम शैलेश शिवहरे बेहतर ढंग से कर सकते हैं। शैलेश शिवहरे और कांग्रेस का नाता ऐसा रहा भी है एकबार नगरपालिका चुनाव में शैलेश शिवहरे ने कांग्रेस प्रत्यासी की जमानत जब्त करा दी थी और इसबार उन्होंने अपनी राजनीतिक सूझबूझ से कांग्रेस के ओर तय जीत को भी कांग्रेस के लिए हार का सबब बना दिया जीत छीन लाये जिससे यह साबित भी होता है कि भाजपा को बैकुंठपुर में एक योग्य उम्मीदवार मिल गया है।

रायपुर पहुंचकर पूर्व मुख्यमंत्री से की मुलाकात

पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष अपनी धर्मपत्नी के नगरपालिका अध्यक्ष बनते ही भाजपा के बड़े नेताओं से लगातार संपर्क बढ़ा रहें हैं और वह अभी हाल ही में राजधानी रायपुर पहुंचे और उन्होंने भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह से मुलाकात की और उन्हें पुष्पगुच्छ भेंटकर उन्हें बैकुंठपुर नगरपालिका चुनाव में भाजपा का अध्यक्ष बनने की जानकारी प्रदान करते हुए शपथ ग्रहण समारोह में आने का न्योता दिया। पूर्व मुख्यमंत्री शपथ ग्रहण में शामिल होंगे यह तय नजर आ रहा है जैसा कि बताया जा रहा है।

पूर्व मंत्रियों से भी की मुलाकात,दिया न्यौता

पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष शैलेश शिवहरे ने राजधानी पहुंचकर भाजपा सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्रियों से भी मुलाकात की और उन्हें बैकुंठपुर नगरपालिका के शपथ ग्रहण समारोह में आने का न्यौता दिया। पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष ने बृजमोहन अग्रवाल और राजेश मूणत से मुलाकात की और उन्हें पुष्पगुच्छ भेंटकर भाजपा की जीत की जानकारी प्रदान कर उन्हें शपथ ग्रहण में आने का न्यौता दिया।

संगठन महामंत्री से भी की मुलाकात

पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष ने भाजपा प्रदेश संगठन मंत्री पवनसाय से भी मुलाकात की और उन्हें बैकुंठपुर में अध्यक्ष पद पर भाजपा के कब्जे की जानकारी दी और बैकुंठपुर शपथ ग्रहण में आने का न्यौता दिया।
राज्यसभा सांसद सहित भाजपा नेता से भी की मुलाकात दिया न्यौता
पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष इसके बाद सरगुजा पहुंचे और उन्होंने भाजपा सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री छतीसगढ़ शासन व पूर्व राज्यसभा सांसद रामविचार नेताम से भी मुलाकात की और उन्हें बैकुंठपुर नगरपालिका के शपथ ग्रहण में आने का न्यौता दिया,उन्होंने सरगुजा के ही भाजपा नेता अनुराग सिंहदेव को भी न्यौता दिया और बैकुंठपुर शपथ ग्रहण में शामिल होने का आग्रह किया। बता दें कि रामविचार नेताम व अनुराग सिंहदेव नगरपालिका चुनाव में कोरिया जिले के प्रभार में थे और चुनाव में भाजपा की तरफ से पर्यवेक्षक थे।

जिला उपाध्यक्ष का पद भी बमुश्किल मिल पाया था शैलेश शिवहरे को

पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष किस्मत के धनी भी हैं जिस तरह मेहनती हैं उसके साथ साथ, कोरिया जिला भाजपा अध्यक्ष ने उन्हें बड़े विलंब और बड़े ही मानमनौव्वल के बाद जिला उपाध्यक्ष का पद दिया था जिसको लेकर चर्चा भी उस दौरान हुई थी कि उनका कद छोटा करने का प्रयास किया जा रहा है।

दो दो पूर्व नगरपालिका उपाध्यक्ष रहे पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष के साथ

पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष के साथ भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को दिए जा रहे शपथ ग्रहण समारोह के न्यौता देने के दौरान बैकुंठपुर नगरपालिका के पूर्व उपाध्यक्ष के साथ दो दो पूर्व नगरपालिका उपाध्यक्ष साथ साथ रहे जिनमे वर्तमान पार्षद और पूर्व नगरपालिका उपाध्यक्ष भानुपाल और पूर्व नगरपालिका उपाध्यक्ष सुभाष साहू साथ रहे।


Share