अंबिकापुर@रूहानीयत वोल्युम 2 का शानदार रंगारंग कार्यक्रम सम्पन्न,गलज गायकों ने दी शानदार प्रस्तुती

41
Share

अंबिकापुर 30 दिसम्बर 2021 (घटती-घटना)। स्थानीय राजमोहनी भवन सारेगमप म्यूजिक अकादमी के तहत सूरों की महफिल रूहानीयत वोल्युम 2 का शानदार रंगारंग कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अम्बिकापुर शहर के मेयर डॉ. अजय तिर्की, कार्यक्रम की अध्यक्षता महासचीव प्रदेश कांग्रेस द्वितेन्द्र मिश्रा एवं विशिष्ट अतिथि के रूप में शिक्षाविद क्षेत्रिय निदेशक सह प्रचार्य डीएवी स्कूल विश्रामपुर आरजेके रेड्डी थे। कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्जवलित कर किया गया। शहर के होनहार गायक साजन पाठक ने अपनी शानदार प्रस्तुती दी। तत्पथात् खैरागढ़ विश्वविद्यालय से संगीत में मास्टर डिग्री प्राप्त गुरशीत कौर खनूजा की गजल ‘गरज बरस प्यासी धरती’ से शुरूवात किया। तबले पर संगत बनारस से पधारें युवा तबलावादक सावन कुमार केवट ने किया। राजस्थान जोधपुर से आये युवा गलज गायक उस्ताद आमीर हुसैन साहब की गजलों से महफील में चार चान्द लगा दिया। चुपके, चुपके रात दिन, हगांमा क्यू बरपा, हम तेरे शहर में आयें है, राजस्थानी माण्ड से श्रोताओं का मन माह लिया। इनके साथ तबले पर संगत शहर के तबला नवाज नासीर खान साहब संगत की जिनके वादन से गजल में चार चान्द लग गए। अगली कड़ी में इंदिरा कला संगीत विश्व विद्यालय से गायन में पीएचडी में अध्ययनरत श्वेता देव ने अपनी शानदार गजलों से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। आपने जगजीत सिंह, बेगम अखतर, फरीदा खानम जी के एक से बढ़कर नगमें प्रस्तुत किये। इनके साथ तबले पर सागर मध्यप्रदेश से आये चेतन विश्वकर्मा एवं सारंगी पर मध्यप्रदेश ग्वालियर से शफीक हुसैन ने संगत की अतं में सभी से बेसब्री से इंतजार था। नासीर एवं निंदर की सुफियाना जोड़ी का जो कि समुचे भारत में एकोमी एकता की मिसाल भी कायम करती है आपने प्रदेश एवं देश के कई संगीत समारोह में सीरकत कर चुके है नासिर एवं निंदर विगत 10 वर्षों से लगातार एक साथ कई मंचों पर अपनी सफल प्रस्तुती से दर्शकों का मन मोहते चले आ रहे है।

एक से बढ़कर एक सुफि कलाम से सुरों की महफील को सराबोर किया

ज्ञात हो कि इसके पूर्व भी वर्ष 2019 में रूहानियत कार्यक्रम का आयोजन सारेगमप म्युजिक अकादमी एवं एचडी. इवेंट के तत्वधान में आयेजित किया जा चुका है। विगत वर्ष कोरोना महामारी के कारण यह कार्यक्रम आयोजित नहीं हो पाया था। प्रदेश के संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत टेलीफोन के माध्यम से इस कार्यक्रम को बधाई संदेश दिया एवं कार्यक्रम का आभार प्रर्दशन द्वितेन्द्र मिश्रा ने किया एवं कार्यक्रम का सफलतापूर्वक संचालन संगीत तिवारी ने किया।


Share