सूरजपुर@अंतर्राज्यीय ऑनलाईन शॉपिंग ईटीपीएस कंपनी के डायरेक्टर व डेवलेपर गिरफ्तार

53
Share

सूरजपुर 25 दिसम्बर 2021 (घटती-घटना)। दिनांक 21.11.2021 को रामानुजनगर निवासी चन्द्रशेखर साहू ने थाना सूरजपुर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि ईटीपीएस ऑनलाईन शॉपिंग कंपनी मुम्बई के डायरेक्टर उमेश पंडित गायकवाड, कंपनी का डेवलपर्स बृजेश कुमार यादव व 1 अन्य व्यक्ति ने ऑनलाईन शॉपिंग से प्रोडक्ट आर्डर कर कंपनी के पास छोड़ने से कंपनी उसे दूसरे ग्राहक को ऑनलाईन सेल कर उससे हुए प्राफिट का 7-12 प्रतिशत राशि का लाभ देगा और यदि कम्पनी के पास यह प्रोडक्ट 3 माह रह जाती है तो कंपनी के द्वारा इन्वेस्टर को 3 प्रतिशत राशि देगा ऐसा कहकर झांसा देते हुए इससे और कई अन्य लोगों से करीब 10 लाख रूपये का षड़यंत्र पूर्वक धोखाधड़ी किया गया है। प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में अपराध क्र. 569/21 धारा 420, 120बी भादवि का अपराध पंजीबद्व किया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने कोतवाली पुलिस को आरोपियों की होने की पुख्ता जानकारी हासिल करते हुए गिरफ्तार करने के निर्देश दिए।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी सूरजपुर गीता वाधवानी के मार्गदर्शन में थाना सूरजपुर की पुलिस टीम विधिवत् नवी मुम्बई व पुणे महाराष्ट्र पहुंची। पुलिस टीम ने पतासाजी करते हुए ओडी कार सहित आरोपी बृजेश यादव व उमेश पंडित गायकवाड को पकड़ा। पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि ऑनलाईन शॉपिंग कंपनी ईटीपीएस को बनाते हुए लोगों को फोन के माध्यम से जोड़कर कंपनी में अधिक से अधिक ऑनलाईन शॉपिंग करने एवं प्रोडक्ट में निवेश करने एवं 7-12 प्रतिशत लागत का लाभ देने का लालच देकर सैकड़ों लोगों से लाखों रूपये की ठगी किये है। आरोपियों के निशानदेही पर ठगी में उपयोग किए जाने वाले 2 नग लेपटाप, 8 नग एटीम, 4 नग मोबाईल व 1 ओडी कार क्रमांक सीजी 12 एए 7777 कुल कीमत करीब 17 लाख रूपये का जप्त कर अपराध सबूत पाए जाने पर आरोपी ब्रिजेश कुमार यादव पिता स्व. सोमन यादव निवासी बेलोरा, थाना कुरूद, जिला धमतरी एवं उमेश पंडित गायकवाड पिता पंडित गायगवाड निवासी एकता रहवासी संघ चिंचपाड़ा, गणेशनगर, थाने बेलापुर रोड़, नवी मुम्बई, थाना रबाले, जिला नबी मुम्बई (महाराष्ट्र) को विधिवत् गिरफ्तार किया गया है और आगे की जांच जारी है। *पुलिस आरोपियों से पूछताछ में यह पता लगाने में लगी हुई कि इनको नेटवर्क कितना बड़ा है। अब तक की पूछताछ के अनुसार इस कंपनी में विदेश के निवेशक भी जुड़े हुए है और छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्यों के हजारों लोगों से करीब 1-2 करोड़ रूपये की राशि के ठगी के आसार है।


Share