अम्बिकापुर @ जमीन विवाद में पिता-पुत्र की नृशंस हत्या

75
Share

लाठी-डण्डा से की गई हत्या,सरगुजा पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते चार को किया गिरफ्तार

अम्बिकापुर 21 नवम्बर 2021 (घटती-घटना)। सरगुजा जिला के दरिमा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कुम्हरता में अज्ञात लोगों द्वारा धारदार हथियार से पिता-पिता पुत्र की हत्या कर दिए जाने के मामले में पुलिस में 10 घंटे के अंदर ही हत्या के चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जमीन बिक्री के विवाद पर गांव के ही 4 लोगों ने पिता पुत्र की हत्या कर दी थी। आरोपियों में एक मृतक का रिश्तेदार भी शामिल है। वारदात की सूचना पर रविवार की सुबह पुलिस अधीक्षक व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में पुलिस, एफएसएल व डॉग स्कॉड की टीम ने घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की जांच की। घटनास्थल पर पिता-पुत्र की लाश कुछ दूरी के अंतराल पर पड़ी हुई थी। पुलिस ने घटनास्थल पर उपस्थित लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि रात करीब 9 बजे मारने-पीटने तथा चिल्लाने की आवाज सुनाई दी थी। पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए 10 घंटे के अंदर चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर उन्हें जेल दाखिल कर दिया है।
दरिमा पुलिस को रविवार की सुबह जानकारी मिली कि ग्राम कुम्हरता निवासी शोभनाथ उम्र 60 वर्ष व उसके पुत्र प्रमोद गोंड़ उम्र 30 वर्ष की लाश पगडंडी रास्ते में पड़ी हुई है। सूचना पर दरिमा पुलिस ने घटना की जानकारी तत्काल पुलिस अधीक्षक अमित तुकाराम कांबले को दी। जानकारी मिलते ही एसपी व एएसपी के नेतृत्व में पुलिस अनुविभागीय अधिकारी अखिलेश कौशिक व थाना प्रभारी दरिमा आशा तिर्की घटनास्थल पर पहुंचे। अधिकारियों के निर्देश के बाद एफएसएल व डॉग स्कॉड की टीम ने घटनास्थल की जांच की। घटनास्थल पर उपस्थित ग्रामीणों से पूछताछ करने पर पता चला कि शनिवार रात लगभग 9 बजे मारने-पीटने तथा चिल्लाने की आवाज सुनाई दी थी, किंतु डर की वजह से कोई बाहर नहीं निकला था। पूछताछ में यह भी जानकारी मिली कि गांव के दल्लू उर्फ दीनदयाल, दलबीर तथा बलबीर ये तीनों भाई हैं। इनका जमीन विवाद मृतपिता-पुत्र से काफी दिनों से चल रहा था। इसी प्रकार गांव के ही अमरिका का भी जमीन विवाद मृतकों के साथ था। अमरिका मृतकों का रिश्तेदार भी है। जमीन विवाद की बात को लेकर दल्लू उर्फ दीनदयाल उसके भाई दलबीर, बलबीर और अमरिका मृतक पिता-पुत्र के साथ रंजिश रखते थे। शनिवार की शाम को मृतक शोभनाथ का विवाद दल्लू उर्फ दीनदयाल के साथ हुआ था। दोनों के बीच गाली गलौज हुई थी। इसके बाद
रात को दल्लू उर्फ दीनदयाल, दलबीर, बलबीर व अमरिका ने शोभनाथ व उसके पुत्र को जान से मार देने की योजना बनाई। इसके बाद चारों आरोपी लाठी, डंडा व टांगी से लैस होकर शोभनाथ के पास पहुंचे। शोभनाथ अपने पुत्र प्रमोद के साथ जंगल के समीप फसल की रखवाली कर रहा था। चारों आरोपियों ने पिता-पुत्र पर जानलेवा हमला कर दिया। इससे घटनास्थल पर ही दोनों की मौत हो गई।
पिता-पुत्र की हत्या से परिवार सदमे में जमीन विवाद को लेकर पिता-पुत्र की हत्या कर दिए जाने से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। मृतक शोभनाथ का प्रमोद इकलौता पुत्र था। एक साथ दोनों की हत्या हो जाने से परिवार की परवरिश करने वाला कोई नहीं है। मृतक प्रमोद का एक पांच साल का बेटा भी है। एएसपी विवेक शुक्ला ने बताया कि मृतक पिता-पुत्र गांव के लोगों की फसल रखवाली का काम करते थे। घटना दिवस दोनों घर से करीब 100 मीटर दूरी पर जंगल के समीप रात में फसल रखवाली कर रहे थे। आरोपियों ने वहीं जाकर घटना को अंजाम दिया था।

एक आरोपी के घर पहुंचा डॉग

घटना को अंजाम देने के बाद दल्लू व अमरिका अपने-अपने घर में थे। वहीं दलबीर व बलबीर दूसरे गांव में काम करने चले गए थे। पुलिस ने जब इनसे पूछताछ करने घर पहुंची तो घर वालों ने बताया कि नहीं है। पुलिस ने दोनों को घर से गिरफ्तार किया। वहीं जांच के दौरान डॉग सीधे अमरिका के घर के अंदर चला गया था। पुलिस ने इसके घर से घटना में प्रयुक्त टांगी, पाइप व डंडा बरामद किया गया है। वहीं पुलिस ने दूसरे गांव से दलबीर व बलबीर को भी गिरफ्तार किया। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 10 घंटे के अंदर चारों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर जेल दाखिल कर दिया है।

कार्रवाई में ये रहे शामिल

कार्रवाई में थाना प्रभारी निरीक्षक आशा तिर्की, सहायक उप निरीक्षक भूपेश सिंह , राकेश यादव, प्रधान आरक्षक सुरजीत कोरी, आरक्षक शिवमंगल, डॉक्टर सिदार, दिनेश मिंज, कमलेश्वर सिंह, संजय कुमार नागेश, भूपेंद्र सिंह, विवेक राय, संजय राजवाड़े व अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे।


Share