खड़गवां @ खाद्य विभाग से सरपंच व ग्रामीणों ने की उचित जांच की मांग

68
Share

पीडीएस के मिलावटी चांवल मामले में अबतक किसी ने नहीं लिया संज्ञान

  • राजेन्द्र शर्मा-
    खड़गवां 11 नवम्बर 2021 (घटती-घटना)।
    बीपीएल राशनकार्ड धारी हितग्राहियों को शासकीय उचित मूल्य की दुकान के माध्यम से सस्ते दर पर वितरण होने वाले खाद्यान पर पीडीएस चांवल में घटिया भूसा युक्त चांवल मिलावट होने की बात ग्राम पंचायत कटकोना लालपुर सकडा और अन्य ग्राम पंचायतों में भी के ग्रामीणों स्थानीय ग्रामीणों एवं सरपंच के माध्यम से सामने आयी है। जिस मामले को ग्राम पंचायत के सरपंचो के द्वारा सामने लाया गया है किंतु अभी तक प्रशासनिक तौर पर किसी ने इस भूसा युक्त चांवल के उक्त मामले को गंभीरता से संज्ञान में नही लिया है। सरकारी राशन दुकान से हितग्राहियों को वर्तमान् नवंबर माह का चावल वितरण किया जाना था एवं उसी चावल को स्कूली बच्चों के मिड डे मील का प्रोटीन वसा विटामिन युक्त चावल जिस में भूसा युक्त मिलावटी चावल होने का आरोप कटकोना लालपुर सकडा के सरपंच एवं ग्रामीणों द्वारा लगाया गया है। वही यहां के स्थानीय सरपंचों का भी आरोप है कि खाद्य विभाग का अमला मौके पर पहुँचकर वास्तविकता जानने व समझाने के बजाय कोरिया मुख्यालय में बैठे ही उस चांवल को स्कूली बच्चों के मिड डे मील का प्रोटीन, विटामिनयुक्त चांवल होना बताया जा रहा है।
    जबकि इस वितरण किया गया चावल के बोरे में लाट नंबर भी अंकित है 3078, 4548 है इस लाट नंबर का चावल मलिटी कंट्रोल इंस्पेक्टर के द्वारा मलिटी की जांच कर ही गोदाम में जमा किया गया होगा इससे ऐसा लगता है कि मलिटी कंट्रोल इंस्पेक्टर के साठ गांठ से ही भूसा युक्त चावल गोदाम में जमा किया गया होगा जो अब पी डी एस के तहत वितरण किया जा रहा है जो कि ग्राम पंचायतों के ग्रामीणों एवं सरपंचों ने इसकी जांच कर कार्रवाई की मांग की है। वही यह भी बात सामने आ रही है की मलिटी कंट्रोल इंस्पेक्टर पिछले कई वर्षों से एक ही स्थान पर जमे हुए है जिस कारण हमेशा किसी ना किसी रूप में चर्चा में बने रहते हैं।
    नहीं हुआ सम्पर्क
    इस संबंध पर प्रतिक्रिया जानने खाद्य निरीक्षक खड़गवां संजय ठाकुर से उनके मोबाइल नंबर 9165073272 पर संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उनसे संपर्क नही हो पाया, उनका मोबाइल कवरेज क्षेत्र के बाहर बता रहा था जिसके कारण उनकी प्रतिक्रिया नही मिल पायी। वाही इस संबंध में मलिटी कंट्रोल इंस्पेक्टर देवेंद्र साकया से जानकारी चाही तो उन्होंने ने मोबाइल किसी और व्यक्ति को दे रखा था, मोबाइल नंबर 9770681752 पर उसके बाद कई बार संपर्क करने की कोशिश की गई, मगर उनके द्वारा मोबाइल नंबर को बार बार व्ययथ कर दिया जा रहा था इसके बाद भी उनके व्हाट्सएप नंबर पर मैसेज भी किया गया था मगर उनके द्वारा कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई।

Share