बैकु΄ठपुर@भाजपा ने धान खरीदी शुरु करने व एमएसपी वृद्धि का लाभ किसानों को दिलवाने राज्यपाल के नाम का कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

110
Share

  • रवि सिंह-

बैकु΄ठपुर 28 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश के आवाहन पर जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में किसानों के लिए 1 नवम्बर से धान खरीदी शुरु करने एमएसपी वृद्धी का लाभ किसानों के देने एवं किसानों को अन्य समस्यों को लेकर महामहीम राज्यपाल जी के नाम का ज्ञापन कलेक्टर कोरिया को दिया गया।
भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष कृष्ण बिहारी जायसवाल द्वारा बताया गया की इस सत्र में धान खरीदी को लेकर किसी तरह की घोषणा नहीं किये जाने से किसानों में बेचैनी है। प्रदेश में मुख्य रुप से महामाया और सरना दो किस्म के धान की खेती होती है। इसमें महामाया की कटाई नवम्बर के पहले सप्ताह में पूरी हो जायेगी और सरना की कटाई भी पहले सप्ताह में ही शुरु हो जाएगी। किसानों को कटाई और मिसाई के लिए भी पैसे की जरुरत होती है, इसके साथ ही हिन्दुओं का प्रमुख त्यौहार दीपावली भी पहले सप्ताह में ही होने के कारण किसानों को पैसों की सबसे अधिक आवश्यक्ता इसी समय होती है।
प्रदेश में धान के रकबे को गुपचुप ढंग से कम किये जाने की साजिश भी कांग्रेश सरकार रच रही है। अफसरों पर दबाव डाला जा रहा है, कर्मचारियों को जबरन धान का रकबा कम दिखाये जाने का निर्देश दिया जा रहा है। रकबे को काफी कम कर धान खरीदने के अपने कर्तव्य से प्रदेश सरकार बचना चाह रही है। इसी तरह केन्द्र सरकार लगातार फसलों के एमएसपी में वृद्धि करती जा रही है लेकिन छग किसानों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। कांग्रेस सरकार अपने वादे के अनुसार धान का 25 सौ रुपये प्रति मि्ंटल कीमत एकमुश्त तो नहीं ही दे पा रही है, ऊपर से केन्द्र द्वारा हर सत्र में जो समर्थन मूल्य बढ़ाया जा रहा है, उसका भी लाभ किसानों को नहीं दिया जा रहा है। पिछले सत्रों में केंद्र ने धान के समर्थन मूल्य में करीब 300 रुपये की वृद्धि की है। इस अनुपात में प्रदेश के किसानों को अगले फसल के लिए न्यूनतम 2800 रुपये प्रति मि्ंटल धान की कीमत एकमुश्त देने की घोषणा करना चाहिए। जिसमें मुख्य रुप से भाजपा जिला मंत्री पंकज गुप्ता, किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष विनोद साहू, मण्डल अध्यक्ष भानूपाल, मण्डल महामंत्री सुभाष साहू, जिला संयोजक बबलू सिंह, किसान मोर्चा मण्डल अध्यक्ष संतोष सिंह, मण्डल महामंत्री मुसाफिर सिंह, लव रवि, मनेजर राजवाड़े, शिवलाल एक्का, मनेजर चेरवा, मुलचंद चेरवा व अन्य उपस्थित रहे।


Share