अम्बिकापुर@5 किलोमीटर पैदल चलकर मछली नदी के दलधोआ घाट पहुंचे मंत्री अमरजीत भगत

111
Share

खाद्य मंत्री बांध निर्माण क्षेत्र का किया दौरा,ग्रामिणों से मिलकर जाना उनका हाल

अम्बिकापुर 21 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। मंत्री अमरजीत भगत पाँच किलोमीटर पैदल चलकर मछली नदी के बांध निर्माण स्थल दलधोआ घाट तक पहुँचे। यहाँ बांध का निर्माण किया जाना है, ताकि किसानों की सिंचाई की सुविधा और बेहतर हो सके। आज अपने तय कार्यक्रम के अनुसार ग्राम बिसरपानी से मंत्री अमरजीत भगत ग्राम कर्महा पहुँचे। यहाँ उन्होंने कर्महा ग्राम पंचायत के अंतर्गत आने वाले ग्रामों के निवासियों से मुलाकात की और उनकी समस्याएँ सुनीं। विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों ने मिलकर मंत्री अमरजीत भगत को अपनी समस्याओं से अवगत कराया। उन्होंने ग्रामीणों के राशनकार्ड, भूमि पट्टा आदि से संबंधित समस्याओं का निराकरण किया। ग्रामीणों से मुलाकात करने के बाद वे बांध निर्माण क्षेत्र की ओर पैदल ही चल पड़े, साथ अन्य जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अमला भी इस अवसर पर उनके साथ था।
खाद्य, नागरिक आपूर्ति व संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत ने पाँच किलोमीटर की दूरी पैदल तय करते हुए डायवर्शन निर्माण क्षेत्र का जायज़ा लिया। मछली नदी के पास पहुँचकर उन्होंने बांध निर्माण स्थल का अवलोकन किया।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बांध के निर्माण से आस-पास के गाँव के किसानों को लाभ होगा, सिंचाई सुविधा में वृद्धि होगी। इससे उन्हें बेहतर फसल लेने में सहायता मिलेगी और वे समृद्धि की ओर अग्रसर होंगे।”
यह पहला मौका नहीं है जब मंत्री अमरजीत भगत ने पैदल यात्रा की हो। हाल ही में उन्होंने पैदल चलते हुए नदी पार करके बोड़ाझरिया ग्राम में हाथी हमले से प्रभावित परिवार से मुलाकात की थी। ग्राम पंचायत ढोढ़ागांव के अंतर्गत आनेवाला यह गांव पहाड़ी मैना नदी के किनारे बसा हुआ है। जहाँ हाथी हमले से प्रभावित परिवार नदी के दूसरी ओर बसा हुआ है।
इस संबंध में मंत्री अमरजीत भगत का कहना है कि जनसेवा मेरा कर्तव्य है, इसीलिये लोगों ने मुझे चुना भी है, कर्त्तव्य-पथ पर चलते हुए सिर्फ मंजç¸ल पर नज़र होनी चाहिए, रास्तों पर नहीं। मैं अपने कर्तव्य के निर्वहन की कोशिश कर रहा हूँ।मंत्री अमरजीत भगत ने पिछले दो दिनों में अपने निर्वाचन क्षेत्र सीतापुर का सघन दौरा किया है। विभिन्न कार्यक्रमों में आमजनों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं के निराकरण की दिशा में उचित निर्णय लिए।


Share