अम्बिकापुर@1 करोड़ 10 लाख के ब्राउन शुगर व हेरोइन के साथ महिला सहित तीन तस्कर गिरफ्तार

20
?????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????????
Share

सरगुजा में नशे के अवैध कारोबार पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई

अम्बिकापुर 13 अक्टूबर 2021 (घटती-घटना)। 1 करोड़ 10 लाख के ब्राउन शुगर व हेरोइन के साथ पुलिस ने एक महिला सहित तीन तस्करों को गिरफ्तार किया है। तस्करों के पास से 625 ग्राम ब्राउन शुगर व 110 ग्राम हेरोइन जब्त किया गया है। गिरफ्तार महिला अपने एक सहयोगी के साथ कार से अंबिकापुर ब्राउन शुगर व हेरोइन सप्लाई करने आई थी। गांधीनगर पुलिस को मुखबिर की सूचना मिलने पर तीनों को गिरफ्तार किया गया है। सरगुजा में हेरोइन पकड़े जाने की पहली कार्रवाई बताई जा रही है। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर उन्हें जेल दाखिल कर दिया है। पुलिस को ऑर्डिनेशन सेंटर में बुधवार को पत्रवार्ता में इस मामले का खुलासा करते हुए सरगुजा एसपी अमित तुकाराम कांबले ने बताया कि जिले में नशे के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। आईजी अजय कुमार यादव के निर्देशन में नवा बिहान नशा मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में गांधीनगर पुलिस को मंगलवार की शाम को मुखबिर से सूचना मिली कि नमनाकला निवासी रसेल एक्का पिता निर्मल एक्का उम्र 23 वर्ष बिहार व झारखंड के तस्करों से मिलकर ब्राउन शुगर का अवैध धंधा कर रहा है। वहीं पुलिस को यह भी पता चला कि झारखंड के गढ़वा सोनपुरवा निवासी मृत्युंजय गुप्ता उर्फ पप्पू सोनी पिता स्वर्गीय सीताराम गुप्ता उम्र 52 वर्ष व बिहार के सासाराम थाना क्षेत्र के ताराचंडी रोड निवासी 48 वर्षीय गीता सोनी पति डोमा सेठ ब्राउन शुगर की खेप लेकर अंबिकापुर आने वाली है, जिसका इंतजार रसेल एक्का शिवधारी कॉलोनी प्रतापपुर नाका के पास कर रहा है। सूचना पर गांधीनगर टीआई अलरिक लकड़ा ने टीम गठित कर घेराबंदी कर आरोपियों को पकड़ा। पुलिस ने रसेल एक्का के पास से 20 ग्राम ब्राउन शुगर, मृत्युंजय गुप्ता के पास से 105 ग्राम ब्राउन शुगर तथा गीता सोनी के पास से 500 ग्राम ब्राउन शुगर एवं 110 ग्राम हेरोइन जब्त किया गया। जब्त ब्राउन शुगर व हेरोइन की कीमत 1 करोड़ 10 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने तीनों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई कर उन्हें जेल दाखिल कर दिया है। कार्रवाई में गांधीनगर टीआई अलरिक लकड़ा के अलावा सहायक उपनिरीक्षक रविंद्र प्रताप सिंह, प्रधान आरक्षक सतीश सिंह, महिला प्रधान आरक्षक राधा यादव, आरक्षक समीनुल हसन, अमृत सिंह, अतुल सिंह, अमरेश सिंह, सलीम मलिक, वीरेंद्र पैकरा, जयंती बड़ा शामिल रहे। पत्रवार्ता के दौरान एएसपी विवेक शुक्ला, डीएसपी एसएस पैंकरा उपस्थित थे।

महिला है मुख्य आरोपी

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार महिला गीता सोनी मुख्य आरोपी है। वह अपने साथी गढ़वा निवासी मृत्युंजय गुप्ता के साथ मिलकर नशे का अवैध कारोबार करती है। वह ब्राउन शुगर व हेरोइन अंबिकापुर में खपाने का काम करती है। ये दोनों अंबिकापुर आकर रसेल एक्का के अलावा अन्य अवैध कारोबारियों को सप्लाई करते हैं। नशे के अन्य अवैध कारोबारियों पर भी कार्रवाई होगी। एसपी ने बताया कि बिहार की सासाराम निवासी गीता सोनी और झारखंड के गढ़वा निवासी मृत्युंजय गुप्ता कार से हेरोइन व ब्राउन शुगर लेकर खपाने के लिए अंबिकापुर पहुंचे थे। गीता सोनी के खिलाफ अवैध मादक पदार्थ के कारोबार को लेकर सासाराम में मामला दर्ज है और वह जेल भी जा चुकी है। वह इस कारोबार में काफी दिनों से संलिप्त है।

उच्च क्वालिटी का है ब्राउन शुगर व हीरोइन

एसपी ने बताया कि आरोपियों के पास से जब्त ब्राउन शुगर व हेरोइन काफी उच्च मलिटी के हैं। लैब की जांच में दोनों मादक पदार्थ काफी उच्च मलिटी के पाए गए हैं, ये बाजार में ऊंचे दामों पर बेचे जाते हैं। वही सरगुजा में एनडीपीएस के मामलों में यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है, पहली बार हेरोइन की जब्ती किसी तस्कर के पास से हुई है।


Share